Breaking News-

 बैरागढ :-  महापौर ने किया यथा शक्ति श्मशान घाट का निरीक्षण, सुरक्षा पर जताई चिन्ता दो दिन पहले गायब हुआ था कब्र से बच्ची का शव-बैरागढ :- खराब प्याज की बदबू से फूटा ग्रामीणों का गुस्सा दिन में परिवहन कर रही ट्रालियों को रोका-बैरागढ़ :- नवनिध गल्र्स स्कूल में मेरी माँ मेरी सर्वश्रेष्ठ सखी विषय पर सेमिनार सुसंस्कृत बेटियाँ मायके एवं ससुराल का मान बढ़ाती हैः- सिध्द्व भाऊ-बैरागढ :- संत नगर भाजयुमो अध्यक्ष पद के लिए लाबिंग शुरू मनीष या विकास बन सकते हैं अध्यक्ष-बैरागढ़ :- तेज रफ्तार कार पलटी, एक की मौत भौंरी मार्ग पर देर रात हुआ सड़क हादसा-बैरागढ :- वैन और मैजिक चालक बच्चों को भर रहे ठूस-ठूस कर, सारे नियम ताक पर-बैरागढ :- चिरायु मेडिकल कालेज में तीन दिवसीय सर्जरी पी.जी रिफ्रेशर कोर्स का आयोजन-बैरागढ :- यथासक्ति श्मसान घाट में रहस्मय ढंग से नवजात बच्चो के शव के गायब होने का मामला सामने आया-बैरागढ :- सर्व ब्राहाण समाज की बैठक सम्पन्न 108 ब्राहा्रण जोड़े करेंगे रूद्राभिषेक-बैरागढ :- सेवा का फल और अधिक सेवा- सिद्ध भाऊ सेवा सदन अस्पताल में 87वां निःशुल्क यूरोलाॅजी शिविर 24 सितम्बर से

बैरागढ़ :- बॉलीवुड के अभिनेता ओम पुरी का आज सुबह अचानक हार्ट अटैक आने से निधन हो गया है।

Sharing is caring!

BAIRAGARH:-AJAY CHOUKSEY M.9893323269

 भोपाल :- बॉलीवुड के अभिनेता ओम पुरी का आज सुबह अचानक हार्ट अटैक आने से निधन हो गया है। om-puri-580x395मशहूर और जाने-माने अपने स्वभाव में कड़क ओम पुरी 66 साल के थे। आज सुबह ओम पुरी ने अंतिम सांस ली। पूरे बॉलीवुड ने उनकी मौत पर शोक जताया हैं और ट्वीट कर उनको श्रंध्दांजलि दी हैं।ओमपुरी न सिर्फ बॉलीवुड सिनेमा, बल्कि पाकिस्तानी, ब्रिटिश और हॉलिवुड फिल्मों में भी अपनी बेमिसाल अदाकारी के लिए जाने जाते थे। उन्हें भारत सरकार द्वारा पद्मश्री की उपाधि दी गई और उन्होंने ‘आरोहण’ और ‘अर्धसत्य’ के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का राष्ट्रीय पुरस्कार भी हासिल किया था।आपको बता दें की बेहतर कलाकारी के धनी थे ओम पुरी। ओम पुरी हिंदी फिल्मों के एक प्रसिद्ध अभिनेता थे, जिनका जन्म 18 अक्टूबर 1950 में हरियाणा के अंबाला शहर में हुआ। ओम पुरी ने बॉलीवुड के अलावा अंग्रेजी फिल्मों  में भी योगदान दिया है।साल 1976 में पुणे फिल्म संस्थान से प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद ओमपुरी ने लगभग डेढ़ वर्ष तक एक स्टूडियो में अभिनय की शिक्षा दी। बाद में ओमपुरी ने अपने निजी थिएटर ग्रुप ‘मजमा’ की स्थापना की। ओम पुरी ने अपने फिल्मीु सफर की शुरुआत मराठी नाटक पर आधारित फिल्म ‘घासीराम कोतवाल’ से की थी।

वर्ष 1980 में रिलीज फिल्म ‘आक्रोश’ ओम पुरी के सिने करियर की पहली हिट फिल्म साबित हुई। उनके निधन पर शोक व्यक्त करते हुए बॉलीवुड के कई कलाकारों ने कहा कि बॉलीवुड के लिए यह एक ऐसी क्षति है जिसे पूरा नहीं किया जा सकता है। ओम पुरी की सबसे बड़ी खासियत यह थी कि वे हर तरह के किरदार निभाने में सक्षम थे। 1990 में उन्हेंभ पद्ममश्री सम्मा न से सम्मा नित किया गया था।1993 में ओम पुरी ने नंदिता पुरी से शादी की थी। हालांकि यह जोड़ा 2013 में अलग हो गया था। उनका एक बेटा इशान है। उन्होंने ब्रिटेन और अमेरिका में प्रोड्यूस हुई कई फिल्मों में काम किया है।