Breaking News-

भोपाल :- सिंधी समाज के जत्थे का भोपाल स्टेशन पर हुआ जोरदार स्वागत।-बैरागढ़ :- निकले कार्यकर्ता दर-दर फिर कमल खिलेगा घर घर अल्पकालीन कार्य विस्तार योजना-भोपाल :- श्रीयुत सम्मान संघर्ष अभियान, श्रीयुत के लिए विंध्यवासियों की आदरांजलि है - राज प्रकाश-बैरागढ़ :-संत निरंकारी चैरिटेबिल फाऊडेषन व्दारा होगी 264 सरकारी अस्पतालों की सफाई-बैरागढ़ :- रामराज्य रथ यात्रा पहुंची भोपाल, हुआ पुष्प वर्षा से स्वागत अयोध्या से रामेश्वरम पहुंचेगी 41 दिन की यात्रा-बैरागढ़ :-नव युवक सभा द्वारा संचालित ए.टी.शाहानी कन्या उ.मा.विद्यालय एंव के.टी.शाहानी बालक उ.मा.विद्यालय के संयुक्त तत्वावधान में आषीर्वाद समारोह का आयोजन किया गया-बैरागढ़:-बैरागढ़ चोरी करते कैमरे में कैद हुए चोर नाबालिक चोरों ने दिया वारदात को अंजाम-बैरागढ़ :- दिशा दीप स्कूल का विदाई ओर आशीर्वाद समारोह संपन्न हुआ।-बैरसिया :- घर-घर बाटें पत्रक और बताई योजानाओं की जानकारी-बैरागढ़ :- जन्मदिवस ना मना कर किसानों की हित की बात कहने वाले प्रमोद राजपूत

बैरागढ़ :- ग्राम कुराना में पांच दिवसीय शिवपुराण का समापन

Sharing is caring!

BAIRAGARH:-AJAY CHOUKSEY M.9893323269
बैरागढ़ :- ग्राम कुराना में पांच दिवसीय शिवपुराण का समापन संत हिरदाराम नगर संतोश पारासर ने द्वादश ज्योर्तिलिंगों की महिमा बताई पांच दिवसीय शिवपुराण का समापन चौसके परिवार के तत्वावधान में ग्राम कुराना में पांच दिवसीय शिवपुराण के समापन पर कथावाचक पंडित संतोष पारासर ने शिव महिमा का वर्णन सुनाया।IMG-20180122-WA0028 कथा संपन्न होने पर यज्ञ का आयोजन हुआ। भक्तगणों ने मंत्रोच्चार के साथ हवन में आहुतियां देते हुए सुखमय जीवन की कामना की। इसके उपरांत भंडारे का आयोजन भी किया गया। कथावाचक संतोष पारासर ने भगवान शिव के द्वादश ज्योर्तिलिंगों की महिमा बताई। उन्होंने कहा कि काशी में शुक्रेश महादेव की 90 दिन तक पूजन करने से आयु बढ़ती है। कथावाचक संतोष पारासर ने बताया कि भगवान शिव के 112 अवतार है। सद्दोजात, वामदेव, सरबतार, भवातार, रूद्रावतार, उग्रावतार, भीमावतार, पशुपति अवतार, अद्र्धनारीश्वतार और नंदी अवतार की कथा सुनाते हुए उन्होंने बताया कि सिलादमुनि ने इंद्र से अवतार मांगा था कि जो संतान हो वह अयोनी हो लेकिन इंद्र ने मना कर दिया। तब उन्होंने शंकरजी की उपासना की जिससे भगवान प्रसन्न हुए और कहा मैं स्वयं आपके यहां आऊंगा। आप हवन करे। मुनि ने हवन किया और हवन कुंड से बालक उत्पन्न हुआ और उसका नाम नंदी रखा गया। फिर नंदी ने काशी में तप कर भगवान से अलग नहीं होने का वरदान मांगा। इस मौके पर केशरी चौकसे, मुकेश चौकसे, राजू चौकसे, महेश चौकसे, घनश्याम चौकसे, कोमल चौकसे, राकेश कुमार, सरोज चौकसे, हरीश मीणा, कमलेश, नवीन, विशाल चौकसे, प्रकाश चौकसे, राजेश विश्वकर्मा, राजकुमार विश्वकर्मा, लखन मेवाड़ा सहित बड़ी संख्या में श्रद्धालु मौजूद थे।